Samvida Shikshak Grade 3 Previous Year Paper With Solution

महिला बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र

महिला बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र आने वाली संविदा एग्जाम के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण टॉपिक है जिसके बारे में हम बात करेंगे

बाल विकास – 

               बाल विकास मनुष्य के जन्म से लेकर किशोरावस्था के अंत तक उस में होने वाले जैविक और मनोवैज्ञानिक परिवर्तन को बाल विकास कहा जाता है बच्चों की देखभाल से संबंधित चिकित्सा की शाखा बालरोगविज्ञान कहा जाता है विकासात्मक परिवर्तन परिपक्वता के नाम से जानी जाने वाली अनुवांशिक रूप से नियंत्रित प्रक्रियाओं के परिणाम स्वरुप कार्य को और शिक्षण के परिणाम स्वरुप हो सकता है लेकिन आमतौर पर ज्यादातर परिवर्तनों के बीच का पारस्परिक संबंध शामिल होता है

                            नवजात बच्चे की उम्र 0 से लेकर 1 महीने तक की होती है जिसमें उसे नवजात बच्चा कहा जाता है, शिशु 1 महीने से लेकर 1 साल तक के बच्चे को कहा जाता है इस उम्र के बीच में आने वाले बच्चे को शिशु कहा जाता है नन्हा बच्चा 1 वर्ष से लेकर 3 वर्ष तक की आयु के बच्चे को कहा जाता है  प्रीस्कूली बच्चे 4 से लेकर 6 वर्ष की उम्र तक के बच्चे को कहा जाता है स्कूली बच्चा 6 वर्ष से लेकर 13 वर्ष की उम्र के बच्चे को कहा जाता है 13 से लेकर 20 वर्ष की उम्र तक के बच्चे  की उम्र की अवस्था को किशोरावस्था या किशोरी अवस्था कहा जाता है

                             च्चों के विकास को समाज के लिए बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है और इसलिए बच्चों के सामाजिक संज्ञानात्मक भावनात्मक और शैक्षिक विकास को समझना जरूरी है इस क्षेत्र में बढ़ते शोध और रुचि के परिणाम स्वरुप नए सिद्धांतों और रणनीतियों का निर्माण हुआ है और इसके साथ ही साथ स्कूल सिस्टम के अंदर बच्चों के विकास को बढ़ावा देने वाले अभ्यास को विशेष महत्व दिया जाने लगा है जिसके अंतर्गत बच्चे की विकास में निरंतरता और  आनिरंतरता  को देखा जाता है

बच्चे की विकास की शुरुआत उम्र की किस अवस्था से होती है

प्रसव की पूर्व अवस्था से

जब बच्चा मां की कोख में होता है तभी उसकी विकास की शुरुआत हो जाती है

विषय बाल विकास एवं शिक्षाशास्‍त्र

Samvida Shikshak Grade 3 Previous Year Paper With Solution

Samvida Shikshak Grade 3 Previous Year Paper With Solution

Samvida Shikshak Grade 3 Previous Year Paper With Solution

शिक्षा मनोविज्ञान का क्षेत्र इतना विस्‍तृत है कि, सभी लोग मानते है कि

जहॉ विज्ञान है वहीं मनोविज्ञान है

जहॉ हवा है वहीं मनोविज्ञान है

जहॉ घर है वहीं मनोविज्ञान है

जहॉ व्‍यवहार है वहीं मनोविज्ञान है

बच्‍चे के झुठ बोलने की आदत को ठीक किया जा सकता है

उन्‍हे दंड देकर

उन्‍हे झुठ बोलने के बुरे परिणाम का भाषण देकर

उन्‍हे सत्‍य बोलने वाले बच्‍चों के उदाहरण देकर

सच बोलने वाल बच्‍चों को परितोषिक देकर

शिक्षा मनोविज्ञान के अंतर्गत्‍ शिक्षा से संबंधित सम्‍पूर्ण व्‍यवहार तथा व्‍यक्तित्‍व आ जाता है यह कथन किसका है –

स्किनर का

शिक्षा के क्षेत्र मं मनोविज्ञान आंदोलन का सूत्रपात करने वाला प्रकृतिवादी शिक्षाशास्‍त्री था।

रूसो

किशोरवस्‍था में निम्‍न में से कौन सा विकास नहीं होता है

अहम् केंद्रिकता

अभिरूचियां

तर्क शक्तियां

प्रेक्षण की योग्‍यता

शिक्षा मनोविज्ञान का शिक्षण में प्रयोग करने वाला विद्वान है ।

पेस्‍टालॉजी

कौन सा करक बच्‍चे के व्‍यक्तित्‍व के विकास को प्रभावित करता है

वंशानुगत

भौतिक वातावरण

सामजिक वातावरण

उपरोक्‍त सभी

दो बालकों में समान मानसिक योग्‍यताएं नहीं होती यह कथन है

हरलॉक का

Samvida Shikshak Grade 3 Previous Year Paper With Solution

संवेदना ज्ञान की पहली सीढी है यह है-

मानसिक विकास

ध्‍यान का विकास है

भाषा का विकास है

शारीरिक विकास है

तर्क जिज्ञासा तथा निरीक्षण शक्ति का विकास होता है

11 वर्ष की आयु में

एडोसेन्‍स शब्‍द लैटिन भाषा के एडोलेसियर से बना है जिसका अर्थ है-

परिपक्‍वता की और बढना

युवावस्‍था  की ओर बढना

बाल्‍यावस्‍था की ओर बढना

किशोरवस्‍था की ओर बढना

किशोरवस्‍था जीवन का सबसे कठोर काल है यह कथन है –

किलपैट्रिक का

मापन किया जाने वाला व्‍यक्तित्‍व का प्रत्‍येक पहलू वैयक्तिक भिन्‍नता का अंश है यह कथन है

स्किनर का

शिक्षा की दृष्टि से बालक की महत्‍वपूर्ण आवश्‍यकता क्‍या है

सह शिक्षा की आवश्‍यकता अच्‍छे

अच्‍छे भोजन की व्‍यवस्‍था

मानव शरीर का आकार किस ग्रन्थि की सक्रियता से बढता है

पिनीयल ग्रंथि से

बालक की वृद्वि रूक जाती है

शारीरिक परिपक्‍वता प्राप्‍त करने के बाद

विवाह हो जाने के बाद

लगभग जीवन पर्यान्‍त चलती है

लगभग 16 वर्ष पश्‍चात्

बाल विकास को कितने वर्गा में बांटा गया है ।

चार

Samvida Shikshak Grade 3 Previous Year Paper With Solution

बाल्‍यवस्‍था का समय है –

5 से 12 वर्ष

बालक के विकास की प्रक्रिया एवं विकास की शुरूआत होती है

व्‍यक्तित्‍वहीन

अन्‍तर्मुखी व्‍यक्तित्‍व

बहिमुर्खी व्‍यक्त्त्वि

उभयमुखी व्‍यक्तित्‍व

शिक्षा मनोविज्ञान किस प्रकार के पूर्वानुमान कर सकता है

कार्य करणों के

क्रो व क्रो का

ट्रो का

कालसनिक का

शिक्षा मनोविज्ञान शैक्षिक परिस्थितियों के मनोवैज्ञानिक पक्ष का अध्‍ययन है यह कथन है

वाटसन ने

आप मुझे बालक दे दीजिए आप उसे जैसा बनाना चाहते है, मै उसे वैसा ही बना दूगा। यह मत है –

कोहलर का

अध्‍यापक की सहायता मनोविज्ञान करता है –

मूल्‍यांकन विधियों के ज्ञान से

पाठ्य पुस्‍तक के चयन में

बालक को समझने के लिए

उपर्युक्‍त सभी

बच्‍चे को मॉं का दूध न मिलने पर किसका दूध दिया जाना चाहिए

गाय का भैस का

बकरी का

बच्‍चे को लगभग कितने महिने में हसना आ जाता है

3 माह में

बौद्विक शब्‍द किससे बना है

मन

आत्‍मा

बुद्वि

शरीर

बालक अपनी शैशवास्‍था में किस अधिगम के द्वारा सीखता है

संज्ञानात्‍मक

प्रत्‍याक्षात्‍मक

प्रकार्यात्‍मक

समस्‍त

शारीरिक विकास का क्षेत्र है

मांसपेशियों की वृद्वि

स्‍नायुमण्‍डल

एन्‍डूगलन

उक्‍त सभी

शिक्षा मनोविज्ञान का संबंध है

केवल मनोविज्ञान से

केवल दर्शन से

केवल मानविकी से

सभी से

विषय पर्यावरण अध्‍ययन के सभी अत्‍यंत महत्‍वपूर्ण प्रश्‍नो का संग्रह

MP PSC मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग परीक्षा के लिए म. प्र. Current Affairs

MP संविदा शाला शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 की तैयारी कैसे करे

MP Samvida Shikshak संविदा शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 वर्ग 3 सिलेबस / तैयारी कैसे करे

Madhya Pradesh  संविदा शाला शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 की तैयारी  से रिलेटेड किसी भी प्रकार की प्रॉब्लम हो तो आप हमारे से Comment के जरिए पूछ सकते हो और हमारी लेटेस्ट पोस्ट के लिए हमारे Facebook page  को लाइक करें जिससे आपको सबसे पहले Appko Hamari New  Post  की नोटिफिकेशन आ जाएगी  धन्यवाद  

More information Visit